Monday, August 03, 2015

तैयारी जीत की...

जीवन में कई बार हार के बाद जीत मिलती है
लेकिन आज हर तरफ़ तैयारी जीत की लगती है
हार में नेत्रत्व की सबसे अधिक जरूरत होती है
लेकिन वह भी आज हार को निरुत्साहित और अकेला छोड़
जीत को गले लगा रहा है
बोर्नवीटा भी तैयारी जीत की करा रहा है
हार में संभालकर स्फूर्ति देने वाला टॉनिक
बाजार में दिखता नहीं
शिक्षक और स्कूल भी अव्वल १० बच्चों

जिन्हें स्कूल की जरूरत नहीं
की सफ़लता पर इठला रहें हैं
और जिन्हें मदद की सख्त जरूरत है
उन्हें ठेंगाँ दिखा रहें हैं
क्यों न हम सब जीत के साथी और हार के संबल बनें

1 comment:

Kavita Rawat said...

हार के पीछे ही जीत छुपी होती है .....सदा एक सा कभी न रहा है ...
कुशल घुड़सवार भी गिरता है
...बहुत सुन्दर